चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

चालो रे सखियां चालो दादी के दरबार में भजन पर झूम उठी महिलाएं, महामंगलपाठ में 2100 महिलाएं हुई शामिल, जय दादी की जयकारों से गूंज उठा मंदिर परिसर

By Goutam

Published on:

---Advertisement---

सोशल संवाद/जमशेदपुर: साकची ठाकुरबाड़ी रोड़ में महालक्ष्मी, राणी सती दादी, अंजनी माता मंदिर के तृतीय वार्षिकोत्सव के अवसर पर आज तीनो देवियों का विशेष पूजा हुई। पूजन का सभी कार्य विधिवत रूप से पुरोहित पुरषोत्तम जोशी के पावन सानिध्य में वेद मंत्र के ज्ञाता 11 पुजारियों ने मंजू-राजकुमार चंदुका, गंगा- गिरधारी मोदी, मिना-राजेश अग्रवाल, मेघा-राकेश चौधरी, रुक्मिणी-कैलाश खंडेलवाल ने पूजा अर्चना करवाई और विधि-विधान के साथ विशेष आरती हुई। तीन देवियों का आकर्षक श्रृंगार किया गया, राणी सती दादी को छप्पन भोग का प्रसाद लगाया गया। साथ की दादी की सवामणी की भी व्यवस्था मंदिर कमिटी द्वारा की गई थी।

दोपहर 2.30 बजे से शुभारंभ हुए राणीसती दादी जी के भव्य मंगलपाठ में दो हजार से अधिक महिलाएं शामिल हुई। मंगलपाठ एवं भजन के लिए तीन देवियों का भव्य दरबार सुबह से ही सजा हुआ था। यहां हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने दादी की ज्योत का दर्शन किया।

मंगलपाठ का वाचक करते और भजनों की मनमोहक प्रस्तुति देने के दौरान कोलकाता के ख्याति प्राप्त कलाकार सौरव-मधुकर ने चालो रे सखियां चालो दादी के दरबार में…., जय दादी की बोल हर काम तेरा हो जाएगा…, दादी मंगलम दादी नाम मंगलम…, झंूझनू से आयी दादी तनधन जी भी साथ हैं…, आवो माॅ आवो…, दादी का परिवार हैं…, मेरा साथी खाटू वाला हैं…, आज म्हारे आंगणिये में राणी सती जी आई जी…, भक्तां पर जब भीड़ पड़ी तब दौड़ी-दौड़ी आई…, मारो श्याम बसे खाटू माही सालासर में बजरंगी राणी सती राज करेगी झुंझुनू के माई…, चिटटी आई रे झंूझनू से म्हारी दादी की चिटटी आई रे…., दे दे थोड़ा प्यार दादी तेरा क्या घट जाएगा…., खूंटी तान कर के सोजा तेरा बाबा श्याम पहरेदार…., आदि एक से बढ़कर एक भजन गाकर भक्तों को खूब झूमाया। भजनों के साथ नृत्य नाटिका की भी कलाकारों ने प्रस्तुति दी। मंगल पाठ एवं भजनों के दौरान भक्तगण नाचते-गाते एवं दादी जी और बाबा श्याम का जयकारा लगाते हुए महिलाओं ने भी जमकर नृत्य किया। राजस्थानी परिधानो से सजधज कर महिलाओं ने महामंगल पाठ किया।

मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों के द्वारा फूलों की होली खेली गयी। मंगल पाठ के बाद सभी भक्तों समेत शहर के कई गणमान्य लोगों ने लगभग 3000 से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

पूर्वोत्तर भारत का सबसे भव्य मंदिर है राणी सती दादी का मंदिर

महालक्ष्मी, रानी सती दादी, अंजनी माता मंदिर सत्यनारायण मारवाड़ी ठाकुरबारी ट्रस्ट द्वारा निर्मित भव्य महालक्ष्मी रानी सती दादी अंजनी माता मंदिर सह धर्मशाला को पूर्वोत्तर भारत का सबसे भव्य मंदिर की संज्ञा दी जा सकती है। आकर्षक मंदिर में अग्रवालों की कुलदेवी माता महालक्ष्मी विराजमान है उनके दाहिने ओर बाल हनुमान को गोद में लिए माता अंजना की मनमोहक प्रतिमा है बाय और झुंझुनू वाली श्री रानी सती दादी विराज रही है। मंदिर प्रांगण के फर्ज मे लगे मार्बल से लेकर दीवारों में की गई शीतकारी वह छत पर किए गए कांच के कार्य की अनुपम शोभा देखते ही बनती है। मंदिर के प्रथम व द्वितीय तल में राजस्थानी शैली के दो वातानुकूलित सेंट्रलाइज्ड एसी हॉल निर्माण किए गए हैं। हर कमरे व सभागार में राजस्थान की कलाकृतियां परिलक्षित होती है। सत्यनारायण मारवाड़ी ठाकुरबारी भवन सामाजिक एवं धार्मिक कार्य के लिए सर्व सुलभ है।

कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रमुख रूप कमल अग्रवाल, प्रमोद अग्रवाल, सुमन अग्रवाल, ओमप्रकाश रिंगसिया, सुरेश कांवटिया, राजकुमार चंदुका, आर के चैधरी, , सुनील सिंहानिया, अभिषेक अग्रवाल गोल्डी, अंकित अग्रवाल गोलु, अमित अग्रवाल, सन्नी संघी, अभिषेक भालोटिया, प्रमोद जालुका, नरेश संघी, ऋषु अग्रवाल, विष्णु धानुका, गुडडू शर्मा, मिन्टु अग्रवाल, सुरेश खेमका, अंकित अग्रवाल, नरेश मोदी, सुमित अग्रवाल, अंकित मोदी, गौरव अग्रवाल, सुनील जैन, आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

---Advertisement---