चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

छठवे दिन भी जारी रहा जनप्रतिनिधियों का अनिश्चितकालीन धरना, मंत्री, विधायक और राजनीतिक दल का भी मिला समर्थन

By Goutam

Published on:

---Advertisement---

सोशल संवाद/जमशेदपुर: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने जमशेदपुर प्रखंड के अंचल पदाधिकारी अमित श्रीवास्तव को फोन से बात करके इस मामले को जल्द निपटारा करने का निर्देश दिए और उन्होंने कहा कि इस मामला को आप स्वयं धरना स्थल पर जाकर धरना पर बैठे लोगों की समस्या को समाधान कर मुझे बताइए।

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को इस संबंध में एक प्रतिनिधिमंडल बन्ना गुप्ता फैंस क्लब के अध्यक्ष अनिल सिंह, पंचायत समिति सदस्य सुनील गुप्ता, पूर्व पंचायत समिति सदस्य राजू पात्रों ने मिलकर वस्तु स्थिति से अवगत कराते हुए मांग पत्र सौंपे थे। सौपे गए मांग पत्र में कहा गया है कि पिछले तीन बार से जीत रही उत्तरी करनडीह पंचायत की मुखिया को अब तक पंचायत भवन नहीं रहने के कारण ग्रामीणों की समस्या का समाधान करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस कारण अविलंब पंचायत भवन का निर्माण किया जाए। प्रस्तावित आवंटित सरकारी जमीन पर जहां पंचायत भवन बनना है, वहां पर धड़ल्ले से अवैध निर्माण कार्य जारी है। जिसे बंद करवाने की मांग भी शामिल है।

जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र के विधायक मंगल कालिंदी ने जमशेदपुर प्रखंड स्थित प्रखंड विकास कार्यालय के सामने छढवे दिन अनिश्चितकालीन धरना स्थल पर पहुंचे। धरना स्थल पर पहुंचते ही धरना दे रही मुखिया सीनी सोरेन के नेतृत्व में मुखिया सरस्वती टुडू, पंचायत समिति सदस्य संगीता पात्रों, सुनील गुप्ता, पूर्व पंचायत समिति सदस्य राजू पात्रों, जितेंद्र यादव, महिंद्र अल्डा, राजू बेसरा ने मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र सौंपने के पश्चात वस्तु स्थिति से विस्तृत रूप से विधायक मंगल कालिंदी को अवगत कराया गया।

विधायक मंगल कालिंदी ने धरने स्थल पर ही बैठकर जिला उपायुक्त से वार्ता कर वस्तु स्थिति की जानकारी दिए। विधायक मंगल कालिंदी ने उपायुक्त को बताए कि पिछले 6 दिनों से महिला मुखिया इस धरना स्थल पर बैठी हुई है। कोई भी पदाधिकारी समस्या का समाधान करने हेतु पहल नहीं कर रहे हैं। जबकि मुखिया की मांग प्रस्तावित आवंटित जमीन पर पंचायत भवन बनाए जाने की मांग बिलकुल जायज है। मामले से अवगत होकर उपायुक्त ने तत्काल कार्रवाई करने का आश्वासन दी। तत्पश्चात अनुमंडल पदाधिकारी ने अंचल पदाधिकारी को तत्काल धरने स्थल पर जाकर वस्तु स्थिति से अवगत कराने का निर्देश दिए। अंचल पदाधिकारी अमित श्रीवास्तव ने धरना स्थल पर आए।

विधायक मंगल कालिंदी ने अंचल पदाधिकारी अमित श्रीवास्तव से अब तक की जांच प्रगति रिपोर्ट की जानकारी मांगी। अंचल पदाधिकारी ने अपने अधीनस्थ पदाधिकारियों को तत्काल प्रस्तावित जमीन पर पंचायत भवन बनने वाले जमीन पर भेजकर वस्तु स्थिति से अवगत करवाएं। विधायक मंगल कालिंदी ने अंचल पदाधिकारी को सख्त निर्देश दिए कि अब किसी भी हालत में उस जमीन पर अवैध निर्माण नहीं होनी चाहिए। उन्होंने परसुडीह थाना प्रभारी को भी सख्त हिदायत दी कि किसी भी हालत में उस प्रस्तावित जमीन पर किसी भी प्रकार की अवैध निर्माण नहीं होनी चाहिए। उन्होंने धरना स्थल पर पंचायत प्रतिनिधि सहित स्थानीय ग्रामीणों लोगों को बताया कि सोमवार को सारी कागजात लेकर उपायुक्त को मामले से अवगत करवा कर कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष आनंद बिहारी दुबे अपने पूरे टीम के साथ धरना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने अंचल पदाधिकारी से बात कर मामले को जल्द से जल्द निपटाने की बात कही। वही धरना दे रहे पंचायत प्रतिनिधि सहित स्थानीय ग्रामीणों को उनके आंदोलन में हर संभव साथ देने का आश्वासन भी दिए। इस दौरान वरीय कांग्रेसी नेता अखिलेश्वर सिंह,भरत सिंह, सुबोध सिंह सरदार, मोहम्मद अजहर सहित कई लोग उपस्थित थे।

धरना दे रही मुखिया सिनी सोरेन ने कहीं की अगर मुझे न्याय नहीं मिलेगा और प्रस्तावित सरकारी आंवटित जमीन पर पंचायत भवन नहीं बनाया जाएगा तो सोमवार से अपने ग्रामीणों के साथ भूख हड़ताल पर अनिश्चितकालीन के लिए बैठ जाएगी। इस दौरान अगर कुछ भी घटना घटती है तो इसका जिम्मेवार संबंधित पदाधिकारी होंगे।

धरना पर उपस्थित लोग में मुखिया सरस्वती टुडू, जोबा माडी, उमा मुंडा, पंचायत समिति सदस्य संगीता पात्रो, सुनील गुप्ता, पूर्व पंचायत समिति सदस्य राजू बेसरा, जितेंद्र यादव, महिंद्र अल्डा, श्यामू मलिक, राज कुमार सहित स्थानीय ग्रामीण लोग शामिल थे।

---Advertisement---