चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

सरकार आपकी द्वारा कार्यक्रम में सीएम हेमंत सोरेन पहुंचे खरसावां, दी 240 करोड़ की 90 योजनाओं की सौगात, 81 करोड़ की 142 योजनाओं का किया उद्घाटन, 250 करोड़ की परिसम्पतियों का किया वितरण

By Goutam

Published on:

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क/खरसावां (रिपोर्ट- उमाकांत कर): राज्य में चल रहे तीसरी चरण की सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में बुधवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खरसावां पहुंचे।  जहां उन्होंने सरकार द्वारा आयोजित आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में हिस्सा लिया।  वहीं मुख्यमंत्री ने जिले के विकास के लिए 240 करोड़ की 90 योजनाओं की सौगात दी एवं 81 करोड़ की लागत से निर्मित 142 योजनाओं का उद्घाटन कर जनता को समर्पित किया। इसके अलावा कार्यक्रम के तहत लाभुकों के बीच कुल 250 करोड़ की परी संपत्तियों का वितरण किया।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री के हवाई मार्ग से खरसावां हेलीपैड मैदान में पहुंचे कि हेमंत है तो हिम्मत है कि नारों से कार्यक्रम स्थल गुंजायमान हो उठा।  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ आदिवासी कल्याण मंत्री चंपई सोरेन एवं श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता, प्रधान सचिव विनय कुमार चौबे मौजूद रहे। सभी अतिथियों का खरसावां विधायक दशरथ गागराई, ईचागढ़ विधायक सविता महतो, कोल्हान प्रमंडल आयुक्त मनोज कुमार, डीआईजी अजय लिंडा, उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला, पुलिस अधीक्षक डॉ विमल कुमार, उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई ने स्वागत किया।

मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने संबोधन करते हुए कहा कि हमने जनता से वादा किया था कि हमारी सरकार हेड क्वार्टर से नहीं बल्कि गांव से चलेगी उसी को देखते हुए 2021 से आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की शुरुआत की।  उन्होंने कहा कि आज राज्य का कोई कोना नहीं बचा है। जहां सरकार आपके द्वारा शिविर के जरिए जनता को लाभ नहीं पहुंच रहा हो।

उन्होंने कहा कि 20 साल तक राज्य को चलाने वाले यहां की भोली भाली जनता को लौटने में लगे रहे धीरे-धीरे सभी आवेदनों को प्राथमिकता के तहत निष्पादित करते हुए लाभुकों को सरकारी योजनाओं का सीधा लाभ दिया जाने लगा। यही वजह है कि सामाजिक सुरक्षा को देखते हुए अंतिम पंक्ति में बैठे लोगों को विकास योजनाओं से जोड़ना शुरु किया। आज राज्य में कोई ऐसा नहीं मिलेगा जो विधवा, बुजुर्ग और दिव्यांग पेंशन से वंचित है। रोटी कपड़ा और मकान के लिए राज्य सरकार ने योजनाएं बनानी शुरू की है और सिलसिलेवार तरीके से उसपर काम शुरू किया। आज सरकार के सोच को अमली जामा पहनाया जा रहा है। केंद्र सरकार ने पीएम आवास योजना को बंद कर दिया। हमारी सरकार अबूआ आवास योजना के जरिए जरूरतमंदों को आलीशान मकान बनाकर देगी। 

उन्होंने कहा कि हमने राज्य के गरीब दलित पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को भी विदेश में पढ़ने के लिए योजना बनाई है। ताकि हमारे राज्य के बच्चों अंग्रेजों के साथ बैठकर मुकाबला कर सके। उन्होंने बेटियों के लिए सावित्रीबाई फुले किशोरी योजना के तहत परिवार में जितने भी बेटियां हैं सभी को लाभ देने की घोषणा की। गुरु जी क्रेडिट कार्ड के जरिए प्रोफेशनल पढ़ाई के लिए आसानी से लोन की व्यवस्था की गई है इसके लिए कुछ भी गिरवी रखने की जरूरत नहीं है। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य को साजिश के तहत लूट गया है।

उन्होंने केंद्र सरकार पर एक लाख 36 हजार करोड़ रुपये दबा कर बैठे होने और मांगने पर ED का डर दिखाने की बात कही।  उन्होंने कहा कि यदि केंद्र से वह पैसा मिल गया होता तो राज्य में और बेहतर विकास के साथ बूढ़ा-बुजुर्ग को ढाई हजार का पेंशन देने का काम करते‌। हेमंत सरकार भागने वाले नहीं है।

एक दशरथ गागराई ने कहा कि सरकार आपके द्वारा कार्यक्रम के माध्यम से जनता को सिधी लाभ पहुंच रही है गुरु जी क्रेडिट कार्ड से बच्चों को गुणवत्ता एवं बेहतर शिक्षा प्राप्त कर आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का आभार जताया।

आदिवासी कल्याण मंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि  मुख्यमंत्री के दूरगामी सोच के तहत ग्रामीण सुदूरवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों तक सरकार आपके द्वारा कार्यक्रम के माध्यम से लाभ पहुंच रही है। उनके सोच का ही परिणाम है कि आज जिले में बैठे अधिकारी गांव गांव पहुंच रहे हैं और ग्रामीणों की समस्याओं को सुनकर उसका ऑन द स्पॉट समाधान भी कर रहे हैं।

श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री एक बहुत बड़ा अभियान लेकर चल रहे हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 2022 तक हर गरीब को पक्का मकान देने की घोषणा कागजों तक सीमित होकर रह गई है। मगर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अब आबुआ आवास योजना लाकर झारखंड की गरीब जनता को क्रांतिकारी सौगात दी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के सोच का ही परिणाम है कि 75 प्रतिशत स्थानीय युवाओं को निजी कंपनी में नौकरी देने की योजना लाकर 50 हजार युवाओं को सीधे रोजगार दिया गया है।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से झारखंड आंदोलनकारी भुवनेश्वर महतो सुधीर महतो, जिप अध्यक्ष सोनाराम बोदरा, उपाध्यक्ष मधु श्री महतो, बासंती गागराई आदि उपस्थित थे।

---Advertisement---

Related Post