चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

टेल्को पुलिस का कारनामा : गौ रक्षक भाजपा नेता को धार्मिक उन्मादी बताकर कसाईयों की सूची में किया शामिल, भेजा 107 का नोटिस

By Goutam

Published on:

टेल्को

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क/जमशेदपुर: टेल्को पुलिस का कारनामा : गौ रक्षक भाजपा नेता को धार्मिक उन्मादी बताकर कसाईयों की सूची में किया शामिल, भेजा 107 का नोटिस, नोटिस पर अंकित आनंद का ट्वीट, लिखा- “मेरे लिए शर्म से डूब मरने वाली बात, जाँच पूर्ण होने तक भाजपा होल्ड पर रखे सदस्यता, डीजीपी से संज्ञान लेने का आग्रह”

टेल्को पुलिस के कारनामे की वजह से झारखंड पुलिस की कार्य संस्कृति पर तरह तरह के सवाल उठने लगे हैं। नया मामला सामने आया है जिसमें टेल्को पुलिस ने भाजपा नेता को उन्मादी बताकर 107 का नोटिस भेजा है। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में बारीनगर के कुछ गौ तस्करों और कसाईयों के साथ-साथ भाजपा के पूर्व जिला प्रवक्ता अंकित आनंद को भी अभियुक्त बनाकर नोटिस भेजा है।

टेल्को थाना के एक रिपोर्ट के आलोक में अनुमंडल दंडाधिकारी के न्यायालय ने मिस केस संख्या 221/2023 के आलोक में उक्त नोटिस जारी किया है। बुधवार सुबह 10:10 बजे टेल्को थाना ने भाजपा नेता को उनके आवासीय कार्यालय में नोटिस सौंपी गई है जिसमें बुधवार को ही सुबह 10:30 बजे एसडीएम कोर्ट में उपस्थित होने को कहा गया है।

इस नोटिस की प्रासंगिकता को चुनौती देते हुए भाजपा नेता अंकित आनंद ने जाँच की माँग उठाई है। ट्वीट के मार्फ़त उन्होंने झारखंड सरकार के डीजीपी सहित जमशेदपुर एसएसपी से संज्ञान लेकर मामले में जाँच कमिटी गठन का अनुरोध किया है। बीजेपी नेता ने अपनी ट्वीट में लिखा है की बारीनगर के गौ तस्करों और कसाईयों के साथ सूचीबद्ध कर के अभियुक्त बनाने से छवि खराब की जा रही है। टेल्को पुलिस के कुछ अधिकारी जानबूझकर आपराधिक षड्यंत्र रचने का कृत्य कर रहे हैं। टेल्को पुलिस के आरोपों से शर्मिंदा हूँ।

भाजपा नेता ने कहा की राज्य में राम भक्तों को प्रताड़ित करने और झूठे आरोपों में फंसाने का प्रचलन ज़ोरों पर है। पुलिस के तथ्यहीन अनुसंधान से अच्छे लोगों को परेशानी होती है। अप्राथमिकी संख्या 21/23 में मुझे किस आधार और परिस्थिति में अभियुक्त बनाया है यह जाँच का विषय है। टेल्को थाना के रिपोर्ट में भाजपा नेता को धार्मिक उन्मादी बताया है जबकि आजतक उनके विरुद्ध धार्मिक उन्माद फैलाने का कोई कांड किसी थाना में दर्ज नहीं है। पुलिस रिपोर्ट से असंतुष्ट जमशेदपुर भाजपा के पूर्व प्रवक्ता अंकित आनंद ने राज्य के डीजीपी से संज्ञान लेने का आग्रह किया है। कहा की गलत कृत्यों का यदि समय पर विरोध न हो तो वह परंपरा बन जाती है।

वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी सहित जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव को इस मामले की जानकारी देते हुए लिखा है की पुलिस प्रताड़ना और षड्यंत्र से आहत हूँ। छवि दागदार बनाने का निम्नतम प्रयास है। जाँच पूर्ण होने तक भाजपा नेता ने अपनी प्राथमिक सदस्यता को होल्ड पर रखने का आग्रह पार्टी के आला नेताओं से किया है। मैं नहीं चाहता की आरोपों की वजह से विपक्षी पार्टियां भाजपा को इस मुद्दे पर घेरे। ऐसे में स्वयं सदस्यता को होल्ड पर रखने का आग्रह कर रहा हूँ।

इधर पुलिस के रिपोर्ट को चुनौती देते हुए भाजपा नेता अंकित आनंद ने कहा की उम्मीद करता हूँ की टेल्को थाना के पास मुझपर आरोप सिद्ध करने के लिए पर्याप्त साक्ष्य होंगे। वे इस मामले में टेल्को पुलिस के विरुद्ध दूषित अनुसंधान करने और विधि द्वारा प्राप्त शक्तियों का दुरूपयोग करने के मामले में दोषी पुलिसकर्मियों के विरुद्ध सक्षम न्यायालय में परिवाद दायर करेंगे।

---Advertisement---