होम 

राज्य

नौकरी

राजनीति

देश दुनिया

योजना

खेल समाचार

टेक

जमशेदपुर

धर्म-समाज  

वेब स्टोरी 

---Advertisement---

 

श्री लक्ष्मीनारायण की प्राण प्रतिष्ठा के साथ ही पांच दिनों का महायज्ञ संपन्न, हजारों लोगों ने ग्रहण किया महाभोग, पांच दिनों तक लगातार गूंजता रहा रामधुन, भक्तिमय रहा माहौल

By Goutam

Published on:

 

श्री लक्ष्मीनारायण

---Advertisement---

1080x1080
12
WhatsApp Image 2024-02-16 at 18.19.23_f6333809
WhatsApp Image 2023-09-09 at 20.39.37
previous arrow
next arrow

जनसंवाद, जमशेदपुर: श्री लक्ष्मीनारायण प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ के पांचवें और अंतिम दिवस रविवार को सुबह सभी मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा हुई। श्री लक्ष्मी नारायण, शिव परिवार, हनुमान जी, काली जी आदि की मंत्रोच्चारण के मध्य प्राण प्रतिष्ठा हुई। प्राण प्रतिष्ठा के बाद हवन हुआ और उसके पश्चात यज्ञ की पूर्णाहुति हुई।

इस प्रकार बीते पांच दिनों से चली आ रही विभिन्न देवी-देवताओं की पूजन विधि आज संपन्न हो गई। इस पांच दिनी महायज्ञ के प्रमुख यजमान जमशेदपुर पूर्वी के विधायक और श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर जीर्णोद्धार समिति के संयोजक सरयू राय थे। विशिष्ट यजमानों में स्थानीय लोग शामिल रहे। बाद में प्रभु का प्रसाद (महाभोग) हजारों लोगों ने ग्रहण किया। आज से भक्तजन यहां प्रतिदिन पूजा कर सकेंगे।

पांच दिनों तक चले इस प्राण-प्रतिष्ठा महायज्ञ में हजारों लोग शामिल हुए। इन पांच दिनों में महायज्ञ परिसर का पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया था। मंदिर परिसर में एक यज्ञवेदी बनाया गया था। समस्त धार्मिक अनुष्ठान वहीं संपन्न हुए। इस यज्ञ वेदी के ठीक बगल में रामधुन गाने वाली स्त्री-पुरुषों का दल था जो निरंतर रामधुन गाता रहा।

पांच दिनों तक चले इस महायज्ञ को सफल बनाने में सर्वश्री आशुतोष राय, हरेराम सिंह, अनिकेत सिंह, असीम जी, मुकेश सिंह, राघवेंद्र सिंह, पप्पू सिंह आदि की महती भूमिका रही। यह पूरा महायज्ञ बेगुसराय से पधारे प्रख्यात पंडित गौरीशंकर ठाकुर जी के मार्गदर्शन में संपन्न हुआ।

 

---Advertisement---

Leave a Comment