चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

झारखंड जनतांत्रिक महासभा ने टीएसडीपीएल बहाली में गड़बड़ी की जताई आशंका, नौकरी में स्थानीय उम्मीदवारों को  75% आरक्षण देने की उठाई मांग  

By Goutam

Published on:

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क: झारखंड जनतांत्रिक महासभा ने एक संवाददाता सम्मलेन में कहा कि उन्हें समाचार पत्र के माध्यम से जानकारी मिली है कि टीएसडीपीएल कंपनी में 30 अप्रैल होने वाली नौकरी के लिए लिए गए परीक्षा का रिजल्ट आने का संभावना है. झारखंड जनतांत्रिक महासभा ने कहा कि टीएसडीपीएल कंपनी ने इससे पहले स्थानीय लोगों को निजी क्षेत्र में 75% आरक्षण देने के कानून का अवहेलना कर सादे कागज पर बहाली का प्रक्रिया किया जा रहा था.

इसके खिलाफ झारखंड जनतांत्रिक महासभा ने जोरदार विरोध दर्ज किया. इसी क्रम में उपायुक्त पूर्वी सिंहभूम, अवर प्रादेशिक नियोजनालाय, गोलमुरी जमशेदपुर एवं टीएसडीपीएल के महा प्रबंधक – एच आर हेड को पत्र लिखकर स्थानीय उम्मीदवारों का वहाली सुनिश्चित करने का मांग रखा था. जिस कारण कंपनी को स्थानीय लोगों के लिए 75 % आरक्षण का अनुपालन करने पर बाध्य होना पड़ा था.

लेकिन अब भी हम लोगों को यह संदेह है कि इसके बाद भी कंपनी गड़बड़ी कर सकती है और पीछे के दरवाजे से गलत तरीके से गैरझारखंडी उम्मीदवारों को नौकरी दे सकती है.

इसी को देखते हुए झारखंड जनतांत्रिक महासभा ने टीएसडीपीएल कंपनी को निम्न सलाह दिया. साथ ही यह निर्देश भी दिया कि वहाली प्रक्रिया में किसी भी तरह का गड़बड़ी पाए जाने पर जानतांत्रिक महासभा झारखंडी मजदूरों के हित में आंदोलन करने को मजबूर होंगी और इसका जिम्मेवारी कंपनी प्रबंधन होगा.

ये है मुख्य मांगे:

  • झारखंड सरकार के निजी क्षेत्र में स्थानीय उम्मीदवारों को नियोजन अधिनियम 2021 का अक्षांश पालन किया जाना चाहिए.
  • रिजल्ट व्यक्तिगत रूप से भेजने के साथ-साथ सार्वजनिक किया जाना चाहिए नोटिस बोर्ड में चिपकाए जाना चाहिए कौन पास हुआ कौन फेल सबको पता चलना चाहिए.
  • कुल कितने लोगों का बहाली होगा यह स्पष्ट होना चाहिए.
---Advertisement---