चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

खरसावां में दुर्गा व काली पूजा के आयोजन को लेकर हुई बैठक, दुर्गा पूजा में 1.25 लाख व काली पूजा में 60 हजार रुपये होंगे खर्च

By Goutam

Published on:

खरसावां

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क/खरसावां (रिपोर्ट- उमाकांत कर): खरसावां के अंचल सभागार में मंगलवार को दुर्गा पूजा व काली पूजा के आयोजन को लेकर पूजा समिति की एक बैठक आयोजित की गयी.बैठक में बताया गया कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी पारंपरिक विधि-विधान के साथ दुर्गा पूजा का आयोजन करने की बात कही गयी.पूजा के दौरान सभी रश्मों को भी निभाया जायेगा.

बताया गया कि मां दुर्गा की प्रतिमा का निर्माण कार्य शुरु कर दिया गया है.सभी कार्य समय पर पूर्ण कर लिये जायेंगे। मुख्य रुप से सरकारी स्तर पर होने वाले दुर्गा पूजा व काली पूजा की तैयारी पर चर्चा की गयी.बैठक में बताया गया कि 20 अक्टूबर से बेल्याधिवास के साथ दुर्गा पूजा शुरु हो जायेगी.

बैठक में बताया गया कि पिछले वर्ष दुर्गा पूजा में सरकारी फंड से एक लाख 21 हजार रुपये खर्च हुए थे.इस वर्ष इसे बढ़ा कर एक लाख 25 हजार रुपये खर्च करने पर सहमती बनी. इसी तरह काली पूजा में भी पिछले वर्ष 55 हजार रुपये खर्च हुए थे.इस वर्ष इसे बढ़ा कर 60 हजार रुपये करने पर सभी ने सहमति दी. दुर्गा पूजा व काली पूजा के दौरान प्रकाश की विशेष व्यवस्था की जायेगी. साथ ही सभी बिजली के पोल में लाइट लगाने की बात कही गयी.

बैठक में पीडब्लूडी विभाग को दुर्गा पूजा से पूर्व सड़क कीनारे उगे झाडियों की साफ सफाई कराने का निर्देश दिया गया. खरसावां सीएचसी को पूजा के दौरान सभी जरुरी दवा व मरहम पट्टी के साथ अस्पताल को 24 घंटे खुले रखने का निर्देश दिया गया.

मालूम हो कि यहां करीब तीन सौ वर्षो से मां दुर्गा की पूजा होते आ रहा है.रियासती काल में पूर्व में इस पूजा का आयोजन राज कोषागार से किया जाता था तथा वर्तमान में सरकारी खर्च पर होता है. 1947 में भारत के आजादी के बाद जब खरसावां रियासत का विलय भारत गणराज्य में हुआ तो खरसावां रियासत के तत्कालिन राजा श्रीराम चंद्र सिंहदेव ने सरकार के साथ मजर्र एग्रीमेंट कर खरसावां के हर वर्ष दुर्गा पूजा के आयोजन की जिम्मेवारी सरकार को सौंप दी.तभी से यहां दुर्गा पूजा का आयोजन सरकारी खर्च पर होता है.

बैठक में मुख्य रुप से बीडीओ गौतम कुमार, सीओ शिला उरांव, प्रमुख मनेंद्र जामुदा,चिकित्सा पदाधिकारी डॉ कन्हैया लाल उरांव, पीडब्लूडी के एई एलके नायक, गोवर्धन राउत, मनोज पति, शचिंद्र कुमार दाश, मानिक सिंहदेव, नयन नायक, रविंद्र मोदक, अमित पात्र, राकेश दाश, धनंजय कर चौधरी, परशुराम दास, रतिरंजन नंदा, वैद्यनाथ नायक, कमलेश्वर पड़िहारी समेत काफी संख्या में लोग मौजूद रहे.

---Advertisement---