चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

जमशेदपुर आई हॉस्पिटल ने अपने पहले ‘वैन पर बने सैटेलाइट मोबाइल आई क्लिनिक’ के साथ 2023 की शुरुआत की

By Goutam

Published on:

---Advertisement---

सोशल संवाद/जमशेदपुर: जमशेदपुर आई हॉस्पिटल (जेईएच) ने अपने बड़े सामुदायिक आउटरीच कार्यक्रम के हिस्से के रूप में अपने पहले ‘ वैन पर बने सैटेलाइट मोबाइल आई क्लिनिक’ के उद्घाटन के साथ नए साल 2023 की शुरुआत की, ताकि स्थानीय आबादी  के बीच टालने योग्य दृष्टिहीनता के मामलों को खत्म किया जा सके।

जेईएच बाइनोक्स सॉल्यूशन के सहयोग से अपना नया सॉफ्टवेयर आधारित ‘लेजी आई थेरेपी’ भी शुरू करेगा, जिसमें वयस्क एम्ब्लियोपिया के चुनिंदा मामलों का इलाज छह सप्ताह के सॉफ्टवेयर आधारित वीडियो गेमिंग प्रोग्राम द्वारा किया जाएगा, यह एक ऐसी स्थिति है जो एक या दोनों आंखों में साफ दिखाई नहीं के कारण हो सकती है।

नए कार्यक्रमों और सुविधाओं का उद्घाटन आज जेईएच परिसर में एक विशेष कार्यक्रम के साथ हुआ। इस कार्यक्रम में अस्पताल के अधिकारियों, रोटरी क्लब के प्रमुख सदस्यों और टाटा स्टील फाउंडेशन (टीएसएफ) और टाटा स्टील के अधिकारियों ने शिरकत की। नया ‘ वैन पर बना सैटेलाइट मोबाइल आई क्लिनिक’ रोटरी क्लब ऑफ जमशेदपुर और टीएसएफ के सहयोग से शुरू किया जा रहा है।

समारोह की मुख्य अतिथि रुचि नरेंद्रन ने कहा, ”जेईएच पिछले छह दशकों से अधिक समय से जमशेदपुर क्षेत्र में सबसे बेहतर नेत्र देखभाल सेवाएं प्रदान करने में सबसे आगे रहा है।  सभी के लिए अत्यधिक करुणा, गुणवत्ता और सामर्थ्य के साथ व्यापक नेत्र देखभाल सेवाएं प्रदान करने के मिशन के साथ शुरू हुआ यह अस्पताल, आज भारत के स्टील सिटी में और उसके आसपास एक पूर्ण विकसित सुपर-स्पेशलिस्ट नेत्र अस्पताल के रूप में सेवा दे रहा है। इतने वर्षों में, हमने स्थानीय समुदाय में सभी परिहार्य दृष्टिहीनता को खत्म करने के लिए बेहतरीन आई केयर इंफ्रास्ट्रक्चर, डॉक्टरों और पैरामेडिक्स में निवेश किया है। हम नए साल की शुरुआत कई नई सेवाओं के साथ कर रहे हैं जिनकी सहायता से हम अधिक लोगों तक पहुंचने की उम्मीद करते हैं और आने वाले वर्षों में हमारी सेवाओं की गुणवत्ता और परिणाम में सुधार करना जारी रखेंगे।

स्वास्थ्य पेशेवरों, विशेष रूप से विशेषज्ञ-कैडर और प्रशिक्षित पैरा-मेडिक्स की कमी को देखते हुए,  जेईएच देश और इस क्षेत्र की सेवा करने के लिए अच्छी तरह से प्रशिक्षित, कुशल नेत्र रोग विशेषज्ञ और ऑप्टोमेट्रिस्ट तैयार करने के लिए और भारत में अंधेपन की व्यापकता 1.99% से 0.3% तक कम करने के लिए खुद को ‘शिक्षण और प्रशिक्षण नेत्र केंद्र’ के रूप में स्थापित करने की योजना बना रहा है। जेईएच पहले से ही बीएससी के अंतिम वर्ष के छात्र को एक वर्षीय अनिवार्य इंटर्नशिप प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए अर्का जैन विश्वविद्यालय के साथ सूचीबद्ध है। अस्पताल मोतियाबिंद और अन्य उप-विशिष्टताओं में पोस्ट-ग्रेजुएट फेलोशिप प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करने के साथ-साथ नेत्र विज्ञान में पोस्ट-ग्रेजुएट डीएनबी टीचिंग भी शुरू करने की योजना बना रहा है।

2022 में, जेईएच ने अपने नवनिर्मित, अत्याधुनिक, एनएबीएच-अनुरूप मॉड्यूलर ओटी कॉम्प्लेक्स, मशीनीकृत लॉन्ड्री और सीएसएसडी सुविधाओं का उद्घाटन करके अपनी डायमंड जुबली मनाई थी और देश में हमें सर्वश्रेष्ठ नेत्र देखभाल संगठनों के साथ बेंचमार्क किया। जेईएच ने कक्षा, वेबिनार कक्ष और एक पुस्तकालय, ऑडियो-विजुअल कॉन्फ्रेंसिंग प्रणाली और आधुनिक शिक्षण उपकरणों से लैस अपने शैक्षणिक बुनियादी संरचना को भी उन्नत बनाया है।  जेईएच को एनएबीएच (अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड) से मान्यता प्राप्त है, जो नवंबर 2022 में तीन साल की अवधि के लिए भारत में किसी भी स्वास्थ्य सेवा संगठन के लिए मिला उच्चतम गुणवत्ता वाला मान्यता प्रमाण पत्र है।

उद्घाटन समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में राकेश्वर पांडे और चाणक्य चौधरी, वाइस प्रेसिडेंट, कॉर्पोरेट सर्विसेज, टाटा स्टील भी उपस्थित थे। समारोह के दौरान जेईएच स्टाफ के साथ यूनियन और प्रबंधन समिति के प्रतिनिधि, नेत्र रोग विशेषज्ञ, टाटा स्टील के वरिष्ठ अधिकारी, हमारे साझेदार अस्पतालों के हेड, रोटेरियन, एनजीओ भी मौजूद थे।

---Advertisement---