चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

जमशेदपुर : नेताजी सुभाष यूनिवर्सिटी के 10 छात्रों को टीसीएस ने 3 लाख के पैकेज पर किया लॉक, मास्टर्स की पढ़ाई में सहयोग करेगी कंपनी….

By Balram Panda

Published on:

---Advertisement---

जमशेदपुर / Balram Panda : आईटी क्षेत्र की बहुप्रतिष्ठित कम्पनी टाटा कन्सलटेंसी सर्विसेज और नेताजी सुभाष विश्वविद्यालय की प्लेटमेंट इकाई की ओर संयुक्त रूप से विश्वविद्यालय में रोजगार सत्र का आयोजन किया गया. इसमें विश्वविद्यालय के विभिन्न संकायों के अंतर्गत संचालित विविध पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया. रोजगार सत्र में बीसीए अंतिम वर्ष के 10 विद्यार्थी रोजगार प्राप्त करने में सफल हुए हैं. विश्वविद्यालय के प्लेटमेंट इकाई के पदाधिकारी ने बताया कि सभी चयनित विद्यार्थी अमान अहमद, प्रिया, उमेश महतो, मुस्कान, ओवैस रजा, मोहम्मद जावेद, आसिफ रजा, आकाश शर्मा, आकाश उपाध्याय और पीयूष कुमार्वारा का टीसीएस द्वारा आईटी स्नातक प्रशिक्षु के पद पर वार्षिक 3 लाख के वेतनमान के अनुबंध पर चयन किया गया है. चयनित विद्यार्थियों के लिए प्रसन्नता का विषय है कि उन्हें न केवल कम्पनी द्वारा रोजगार का कि प्रस्ताव दिया गया है, बल्कि भविष्य में उच्चतर शिक्षा में रूचि रखने वाले विद्यार्थियों को कम्पनी की ओर से ही एमसीए की पढ़ाई करने का अवसर भी दिया जाएगा. विद्यार्थियों को कम्पनी की विभिन्न शाखाओं में पदास्थापित किया जाएगा, जहां भविष्य में विद्यार्थियों को अपने कौशल और अनुभव के आधार पर पदोन्नति के प्रर्याप्त अवसर प्राप्त होंगे.

 

विद्यार्थियों की इस सफलता पर हर्ष व्यक्त करते हुए विश्वविद्यालय के आईटी विभागाध्यक्ष और अधिष्ठाता प्रो (डॉ) रंजन कुमार मिश्रा ने कहा कि टीसीएस द्वारा आयोजित इस रोजगार सत्र में हिस्सा लेने के लिए विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों में विशेष रूझान देखने को मिला है. अनेक विद्यार्थियों ने कठिन चयन प्रक्रिया का सामना करते हुए अपनी लगन और दक्षता के बेहतर प्रदर्शन से प्रतियोगिता के स्तर को समृद्ध किय है. पहले चरण में सीमित सीटों पर विद्यार्थियों का चयन हुआ है. उन्होंने विश्वास जताया कि भविष्य में अधिक से अधिक विद्यार्थी रोजगार प्राप्त करने में सफल होंगे. विद्यार्थियों का चयन न केवल उनकी व्यक्तिगत प्रतिभा को प्रदर्शित करता है, बल्कि उनकी शैक्षणिक तैयारियों और उन्हें तकनीकी कौशल में दक्ष बनाने के पीछे की गई प्रध्यापकों की मेहनत को भी दर्शाता है. विद्यार्थियों की प्रतिभा को निखारने के लिए उन्हें निरंतर विभिन्न विषयों से संबंधित कार्यशालाओं, प्रशिक्षण सत्रों, हैकेथॉन आदि में सम्मिलित होने के लिए प्रेरित किया जाता है. साथ ही विश्वविद्यालय प्रबंधन की ओर से विद्यार्थियों से संबंधित विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए उनका मार्गदर्शन भी किया जाता है.

विद्यार्थियों की इस उपलब्धि पर नेताजी सुभाष विश्वविद्यालय के कुलसचिव नागेंद्र सिंह ने कहा कि यह विश्वविद्यालय के लिए गर्व और सम्मान का विषय है कि विश्वविद्यालय के विद्यार्थी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतिष्ठित कम्पनियों में रोजगार प्राप्त करने में सफल हो रहे हैं. विश्वविद्यालय के विद्यार्थी बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं और किसी भी प्रकार की चुनौतियों का सामना करने के लिए सजग रहते हैं. वर्तमान में विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित कार्यों के स्वरूपों में तेजी से बदलाव आ रहा है. तकनीकी पक्ष दिनोंदिन और अधिक समृद्ध हो रहा है. इसलिए विद्यार्थियों को चाहिए कि वे नवीन कौशलों और नवाचारों के विषय में जानने और सीखने के लिए तत्पर रहें. विश्वविद्यालय में आधुनिक शिक्षा व्यवस्था और वर्तमान आवश्यकताओं के अनुकूल वातावरण है. विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास की दिशा में विश्वविद्यालय परिवार का प्रयास सराहनीय है.

---Advertisement---