चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल व नालंदा के पूर्व सांसद प्रोफेसर सिद्धेश्वर प्रसाद के असामयिक निधन पर सांसद कौशलेंद्र कुमार अंतिम यात्रा में हुए शामिल, जताया शोक

By Goutam

Published on:

---Advertisement---

सोशल संवाद/नालंदा (रिपोर्ट- विकास कुमार): त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल नालंदा के पूर्व सांसद प्रोफेसर सिद्धेश्वर प्रसाद के असामयिक निधन पर नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार ने उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होकर शोक जताते हुए शोकाकुल परिवार को धैर्य से काम लेने की एवं दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना किए।

सांसद श्री कुमार ने बताया कि सिद्धेश्वर प्रसाद एक सरल विचार धारा वाले व्यक्ति थे। इन्होंने अपने जीवन की शुरुआत एक शिक्षाविद के रूप में नालंदा कॉलेज बिहारशरीफ में हिंदी के व्याख्याता के रूप में शुरू करते हुए सामाजिक कार्यों में रूचि के कारण सब तबके, सब समुदाय को साथ लेकर चलने वाले सिद्धेश्वर प्रसाद का निधन हो जाने से नालंदा एक अभिभावक खो दिया। लगातार तीन बार नालंदा के लोकसभा सांसद रहने के बाद त्रिपुरा के राज्यपाल के पद को भी सुशोभित किए।

सांसद श्री कुमार ने बताया कि अपने इलाज के क्रम में लगातार उनसे लोकसभा के सेंट्रल हॉल में उनसे भेंट होती थी। वह हमेशा हाल चाल लेते थे और जनहित के मुद्दे को लोकसभा में जोरदार तरीके से उठाने के बाद हमेशा कहते थे। उन्होंने कहा यह संयोग था कि जब हम पहली बार नालंदा के सांसद बने थे तो वह साउथ एवेन्यू के फ्लैट नंबर 52 में रहते थे और हमें भी फ्लैट नंबर 52 ही पहली बार मिला था।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इनके  निधन पर राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि कराने का आदेश दिया इसके लिए माननीय मुख्यमंत्री के प्रति अपना अभार व्यक्त किए। मूल रूप से नालंदा के बिंद प्रखंड के रहने वाले सिद्धेश्वर बाबू हमेशा लोगों को सही दिशा दिखाते थे। सांसद श्री कुमार ने बताया इस दुख की घड़ी में सिद्धेश्वर बाबू बाबू के परिवार को शक्ति प्रदान करें।

---Advertisement---