होम 

राज्य

नौकरी

राजनीति

देश दुनिया

योजना

खेल समाचार

टेक

जमशेदपुर

धर्म-समाज  

वेब स्टोरी 

---Advertisement---

 

DC के निर्देश पर बकरीद को लेकर थाना स्तर पर आयोजित की जा रही शांति समिति की बैठक, भाईचारा एवं सौहाद्रपूर्ण वातावरण में त्यौहार मनाने की अपील

By Goutam

Published on:

 

बकरीद

---Advertisement---

1080x1080
12
WhatsApp Image 2024-02-16 at 18.19.23_f6333809
WhatsApp Image 2023-09-09 at 20.39.37
previous arrow
next arrow

जनसंवाद, जमशेदपुर: जिला दण्डाधिकारी सह उपायुक्त अनन्य मित्तल के निर्देशानुसार जिले में थाना स्तर पर बकरीद को लेकर शांति समिति की बैठक आयोजित की जा रही है। कई थानों में आयोजित बैठक में 17 जून को बकरीद (ईद-उल-अजहा) का त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से मनाने और विधि व्यवस्था के संधारण पर चर्चा की गयी।

इस दौरान सभी से आपस में भाईचारा एवं सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में त्योहार मनाने की अपील की गई। शांति समिति सदस्यों से अपील किया गया कि त्योहार में किसी तरह की अफवाहों पर ध्यान नहीं दें, अपने स्तर से भी लोगों को जागरूक करें। कोई भी ऐसा कार्य नही करें जिससे दूसरे धर्म के लोगों की भावनाएं आहत हो। त्योहार के दौरान सोशल मीडिया माध्यम से अफवाहों पर कड़ी नजर रखी जायेगी साथ ही असामाजिक तत्वों एवं अशांति फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

जिला दण्डाधिकारी सह उपायुक्त ने कहा कि उत्सव के वातावरण में एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करते हुए जिलेवासी त्योहार मनायें। उन्होने दोनों अनुमंडल पदाधिकारी, सभी बीडीओ, सीओ एवं थाना प्रभारी को अपने-अपने थाना क्षेत्रों में 14 जून तक शांति समिति की बैठक कर शांति की अपील करने का निर्देश दिया है। साथ ही नगर निकाय पदाधिकारियों को साफ सफाई सुनिश्चित कराने, स्ट्रीट लाइट व हाई मास्ट लाइट के मरम्मती की आवश्यकता हो तो तत्काल सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

साथ ही कहा कि बकरीद पर्व के दौरान सोशल मीडिया पर विशेष निगरानी रखी जाए। ट्विटर फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अगर कोई आपत्तिजनक पोस्ट शेयर होता है, तो तत्काल संबंधित व्यक्ति को चिन्हित करते हुए सुसंगत धाराओं में कार्रवाई करें। सीओ और थाना प्रभारियों को समन्वय स्थापित कर अपने-अपने क्षेत्रों में अवैध शराब के निर्माण एवं बिक्री के विरुद्ध सघन छापामारी करने, समय-समय पर जिला मुख्यालय को अपने क्षेत्रों का खैरियत प्रतिवेदन देने, संवेदनशील स्थानों पर विशेष निगरानी करने आदि का भी निर्देश दिया गया है।

 

---Advertisement---