चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

टाटा स्टील फाउंडेशन ने वर्ल्ड समर गेम्स के पदक विजेताओं को किया सम्मानित

By Goutam

Published on:

TSF

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क, जमशेदपुर: 17-25 जून 2023 के बीच बर्लिन (जर्मनी) में होने वाले स्पेशल ओलंपिक वर्ल्ड समर गेम्स में भाग लेने वाले झारखंड के विशेष एथलीटों की टीम द्वारा प्राप्त पुरस्कारों को मान्यता देते हुए टाटा स्टील फाउंडेशन द्वारा एक सम्मान समारोह आयोजित किया गया था।

झारखंड के पांच खिलाड़ियों के दल ने खेलों में कुल 8 पदक (चार स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य) जीते। वी. इंदु प्रकाश ने 5 किमी साइक्लिंग टाइम ट्रायल में स्वर्ण पदक और 2 किमी टाइम ट्रायल में रजत पदक जीता। रितेश कुमार सिंह ने बैडमिंटन युगल में स्वर्ण पदक और एकल में रजत पदक जीता। पूनम कुमारी ने बैडमिंटन में युगल और एकल दोनों में स्वर्ण पदक जीते और सामिया परवीन ने पावरलिफ्टिंग में दो कांस्य पदक जीते। साइकिल चालक केदार नारायण दुर्भाग्य से 24 जून को अपने साइकिलिंग कार्यक्रम के दौरान एक सड़क दुर्घटना का शिकार हो गए और वर्तमान में उनका इलाज चल रहा है।

यह भी पढ़ें: ACB की बड़ी कार्रवाई: चाईबासा में ग्रामीण कार्य विभाग विकास विशेष प्रमंडल का कैशियर 50 हज़ार घुस लेते गिरफ्तार

समारोह का आयोजन आज जेएफसी लाउंज, जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में हुआ और एथलीटों को टाटा स्टील फाउंडेशन के निदेशक चाणक्य चौधरी ने सम्मानित किया, जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी उपलब्धियों के लिए चैंपियंस को बधाई दी।

विशेष एथलीटों द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों पर बात करते हुए, स्पेशल ओलंपिक भारत (एसओबी) के कोच, सतबीर सिंह ने कहा, “लगभग 2 वर्षों तक, हमने हर दिन 60 किमी की दूरी तय की और सुनिश्चित किया कि प्रदर्शन अच्छा रहे। इस वर्ष, हमारे पास कम संख्या में एथलीटों ने भाग लिया था इसलिए प्रतिनिधित्व और प्रतिस्पर्धा का दबाव बहुत अधिक था। उन्होंने अपनी आगामी योजनाओं के बारे में बात करते हुए कहा कि “अन्य एथलीट खेल में अपना करियर जारी रखने के लिए कोच के असिस्टेंट बनने के लिए प्रशिक्षण ले रहे हैं। हम समावेशन को सबसे अधिक महत्व देते हैं और यही वास्तव में खेल भावना है।”

स्पेशल ओलंपिक वर्ल्ड समर गेम्स के दौरान 190 देशों के 7000 से अधिक विशेष ओलंपिक एथलीट और यूनिफाइड पार्टनर्स बर्लिन में एकत्र हुए। स्पेशल ओलंपिक्स भारत (एसओबी) से लगभग 200 एथलीटों और यूनिफाइड पार्टनर्स और 60 कोचों ने भाग लिया।

विशेष रूप से, टाटा स्ट्रील फाउंडेशन का सबल सेंटर दिव्यांगों के लिए सम्मान और उनके सशक्तिकरण के प्रमुख साधनों में से एक के रूप में खेल की परिकल्पना करता है। सबल ने अहमदाबाद, गुजरात और बोकारो, झारखंड में पिछले राष्ट्रीय स्तर के तैयारी शिविरों में एथलीटों का समर्थन किया है। इसके अलावा, सबल बौद्धिक दिव्यांगता वाले व्यक्तियों के बीच खेल को जारी रखने के लिए एसओबी झारखंड के साथ मिलकर काम कर रहा है, और नियमित रूप से आवश्यक मार्गदर्शन, प्रदर्शन और सहायता प्रदान करता है।

---Advertisement---