चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

आदित्यपुर मुस्लिम बस्ती में ब्राउन शुगर के वर्चस्व को लेकर युवक की गोली मारकर हत्या

By Goutam

Published on:

आदित्यपुर

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क: सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना अंतर्गत मुस्लिम बस्ती मदरसा रोड में रविवार की रात लगभग 8.15 बजे बाइक सवार दो अपराधियों ने फिरोज अंसारी नामक युवक को उसके घर के ही सामने सीने और पेट में गोली मार हत्या कर दी। युवक को आनन फानन में टीएमएच अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सको ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि मृतक फिरोज पेशे से बिजली मिस्त्री का कार्य करता था। फिरोज अंसारी का कुख्यात अपराधकर्मी कादिम खान से भी संबंध रहने को बताया जा रहा है। कादिम के जेल जाने के बाद उसके कई कामो को फिरोज ही संचालित कर रहा था। मृतक के दो बच्चे भी है. वहीं मृतक के पिता ब्राउन शुगर के कारोबार करने के आरोप में जेल जा चुका है और फिलहाल जमानत पर है। पुलिस यह अंदेशा लगा रही है कि ब्राउन शुगर के कारोबार में वर्चस्व को लेकर यह हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है। वहीं परिजनों ने

आपको बताते चलें कि सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र के मुस्लिम बस्ती इन दिनों पूरे क्षेत्र में अशांति का केंद्र बना हुआ है। ब्राउन शुगर को लेकर आदित्यपुर मुस्लिम बस्ती झारखंड में कुख्यात और विख्यात बनकर ब्राउन शुगर का हब बन गया है। आए दिन मुस्लिम बस्ती में चोरी छिनतई सहित गैंगवार की संभावना बनी रहती है। प्रशासन की निगाहें भी मुस्लिम बस्ती पर हमेशा लगी रहती है। फिर भी आए दिन घटनाएं घटती रहती है।

ब्रा उन शुगर के कारोबार में वर्चस्व को लेकर आए दिन मुस्लिम बस्ती में प्रतिद्वंदीता को लेकर घटनाएं घटती रहती है। इसी का नतीजा है कि ब्राउन शुगर में वर्चस्व को लेकर गोली मारकर हत्या कर दी गई है।

यह भी पढ़ें: राज्य गौ सेवा आयोग के उपाध्यक्ष बनाए जाने पर दुर्गा पूजा कमिटी ने किया राजू गिरी का अभिनंदन

मुस्लिम बस्ती मे पुलिस लगातार गश्त कर रही है और मामले की छानबीन कर रही है। इन दिनों आदित्यपुर मुस्लिम बस्ती ब्राउन शुगर के अवैध कारोबार को लेकर पूरे झारखंड में कुख्यात और विख्यात होकर ब्राउन शुगर का हब बनकर क्षेत्र के लिए अशांति का केंद्र बना हुआ है। जहां प्रशासन डाल-डाल तो ब्राउन शुगर माफिया पात पात का आए दिन खेल खेल रहे हैं।

---Advertisement---