चुनाव 2024 राज्य नौकरी राजनीति देश दुनिया योजना खेल समाचार टेक जमशेदपुर धर्म-समाज
---Advertisement---

प्रउत टीवी द्वारा टेल्को संगीत समाज में कला, कोरल और भाषण प्रतियोगिता का सफल आयोजन, कई कॉलेज और स्कूलों के छात्रों ने लिया हिस्सा

By Goutam

Published on:

प्रउत टीवी

---Advertisement---

जनसंवाद डेस्क/जमशेदपुर: संगीत समाज, टेल्को के सभागार में प्रउत टीवी, प्रउत वेलफेयर फाउंडेशन और रेनेसां यूनिवर्सल द्वारा आयोजित कला, कोरल (सामूहिक सस्वर) और भाषण प्रतियोगिता का सफल आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम में शहर के प्रतिष्ठित कॉलेज और स्कूल के छात्रों ने भाग लिया। भाग लेने वाले संस्थानों में वीमेनस कॉलेज, चिन्मय विद्यालय, लिटिल फ्लावर स्कूल, हिल टॉप स्कूल, वैली व्यू स्कूल सहित अन्य प्रतिष्ठित स्कूल और कॉलेज के छात्रों ने हिस्सा लिया।

विभिन्न प्रतियोगिताओं में छात्रों की सृजनात्मकता, कल्पनाशीलता, विषय वस्तु की जानकारी, उन्हें प्रस्तुत करने की शैली ने उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कोरल गायकी में छात्रों द्वारा समूह में गायन, सुर और लय पर पकड़ और उससे निकलती स्वर लहरियों ने एक बेहद खूबसूरत समां बांध उपस्थित लोगों को रोमांचित कर दिया।

प्रउत टीवी के इस कार्यक्रम के आयोजन का लक्ष्य था छात्रों की प्रतिभा को उभारने के लिये एक सशक्त और बृहद मंच उपलब्ध कराना। साथ ही इस कार्यक्रम के माध्यम से समाज में नैतिक मूल्यों के ह्रास पर छात्रों, शिक्षक एवम समाज के प्रबुद्ध वर्ग का ध्यान आकर्षित करना, ताकि हम गिरते नैतिक मूल्यों पर अंकुश लगाकर एक बेहतर समाज और सशक्त देश का निर्माण कर सकें।

इस अवसर पर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि प्रो. शुक्ला मोहंती, प्रिंसिपल, वोमेन्स कॉलेज ने प्रउत टीवी के इस पहल की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए कहा कि जहां अन्य चैनल्स टीआरपी की होड़ में शामिल हैं, वहीं प्रउत टीवी द्वारा छात्रों और समाज के प्रति जिम्मेदारी का निर्वहन एक सुखद पहल है।

इस अवसर पर कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रूप में अवधेश सिंह, प्रिंसिपल विवेक विद्यालय सुमिता डे, प्रिंसिपल शिक्षा निकेतन और ती बी. उमा माहेश्वरी, विवेक विद्यालय ने कार्यक्रम के सृजनात्मकता और जमशेदपुर के छात्रों को एक बृहद मंच देने की मुक्त कंठ से प्रशंसा की।

इस अवसर पर प्रउत टीवी के चेयरमैन राजेश सिंह ने कहा कि छात्र ही समाज एवम देश का भविष्य हैं। इस पौधे को हम जितनी बेहतर शिक्षा और संस्कारों से सींचेंगे तो आने वाले समय में उतना ही बेहतर फल मिलेगा जो शोषणरहित नवयमन्वतावादी समाज के निर्माण में सहायक होगा। साथ ही उन्होंने छात्रों के सपनों को हासिल करने और उनकी एकाग्रता को बढ़ाने का मंत्र दिया, जिसकी सभी ने मुक्त कंठ से सराहना की।

इस कार्यक्रम में कला प्रतियोगिता के जज ख्यातिप्राप्त चित्रकार सैयद तौहीद और भाषण प्रतियोगिता के जज सतीश चंद्र बरनवाल थे। कार्यक्रम का सफल संचालन और धन्यवाद ज्ञापन प्रशांत सिंह ने किया। इस कार्यक्रम के आयोजन में धर्मेंद्र सिन्हा, देवाशीष चटर्जी, प्रतिमा सिंह, डॉली, कंचन, आशा, अविनाश त्रिपाठी, जितेंद्र कुमार, ओम प्रकाश, धीरज कुमार, अजय कुमार, रमाशंकर, अशोक आदि लोगों ने भरपूर योगदान दिया।

---Advertisement---