होम 

राज्य

नौकरी

राजनीति

देश दुनिया

योजना

खेल समाचार

टेक

जमशेदपुर

धर्म-समाज  

वेब स्टोरी 

---Advertisement---

 

आदित्यपुर : पानी और भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा का प्रस्तावित आंदोलन अपनी नाकामियों को छिपाने और नगर निगम प्रशासन पर अपनी धौंस कायम रखने की नाकाम कोशिश, मुख्यमंत्री के नेतृत्व में आदित्यपुर नगर निगम और औद्योगिक क्षेत्र का होगा कायाकल्प- पुरेंद्र…

By Balram Panda

Published on:

 

---Advertisement---

1080x1080
12
WhatsApp Image 2024-02-16 at 18.19.23_f6333809
WhatsApp Image 2023-09-09 at 20.39.37
previous arrow
next arrow

आदित्यपुर / Balram Panda: पानी और भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा का प्रस्तावित आंदोलन को आदित्यपुर की जनता भली-भांति समझ रही है. आदित्यपुर की जनता को मालूम है कि पिछले 10 वर्षों से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से आदित्यपुर नगर निगम में भाजपा के मेयर, डिप्टी मेयर, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष रहे हैं, लेकिन पिछले 10 वर्षों में पानी को लेकर कोई गंभीर प्रयास नहीं किया गया. पिछले 10 वर्षों के नाकामियों के कारण ही आज आदित्यपुर नगर निगम की जनता को पानी के लिए त्राहिमाम होना पड़ रहा है. पिछले 10 वर्षों में भाजपा के लोगों ने एक बार भी पानी और भ्रष्टाचार को लेकर नगर निगम के खिलाफ कोई जन आंदोलन नहीं किया.

 

उक्त बातें आदित्यपुर नगर परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष पुरेंद्र नारायण सिंह ने कही. अभी हाल में ही भाजपा सिंहभूम संसदीय चुनाव हार चुकी है. अपना खोता जनाधार देख घबराकर भाजपा पानी जैसे ज्वलंत मुद्दे पर जनहित में जनता की समस्याओं के समाधान हेतु सकारात्मक प्रयास करने के बजाय नगर निगम में प्रदर्शन के नाम पर जनता के भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास कर रही है, लेकिन आदित्यपुर की जनता भाजपा को भली भांति जान चुकी है. आदित्यपुर की जनता अब भाजपा के झांसे में आने वाली नहीं है. आदित्यपुर की जनता आने वाले विधानसभा चुनाव और नगर निगम के चुनाव में भाजपा को धूल चटाने को तैयार है. उन्होंने यह भी दावा किया कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को वोट देने वाले लाखों लाख लोग विधानसभा और नगर निगम के चुनाव में महागठबंधन को वोट देंगे.

पुरेंद्र नारायण सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चंपई सोरेन के नेतृत्व में आदित्यपुर नगर निगम और आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र का शीघ्र ही कायाकल्प होगा. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में आदित्यपुर में फ्लाईओवर ब्रिज और मरीन ड्राइव का भी निर्माण होगा. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा आदित्यपुर, सरायकेला सहित पूरे राज्य में विकास को एक नई गति प्रदान करते देख भाजपा घबरा गई है. पुरेंद्र ने कहा कि राज्य में भाजपा के शासनकाल में जलापूर्ति का काम जिंदल और सीवरेज का काम शापुरजी पालमजी को दिया गया. केंद्र प्रायोजित योजनाओं के नाम पर पूरे आदित्यपुर की सड़कों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. क्षतिग्रस्त सड़कों के कारण आम जनता को पिछले कई वर्षों से परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन तब भाजपा के लोग चुप रहे.

 

उन्होंने कहा तत्कालीन भाजपा सरकार अगर जलापूर्ति का कार्य जूस्को (टाटा स्टील) को सौंप देती तो आज आदित्यपुर के घर-घर में पेयजल उपलब्ध हो जाता और जनता को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा लिए गए गलत फैसलों के वजह से आज आदित्यपुर की जनता पानी के लिए परेशान है. पुरेंद्र ने आशा व्यक्त किया कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पूरे आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र मे 2025 के शुरुआत में घर-घर पानी पहुंच जाएगा. इसके लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहे हैं.

 

इस संबंध में हुई बैठक में पुरेंद्र नारायण सिंह के अलावे एसएन यादव, राजेश यादव, कुमार विपिन बिहारी प्रसाद, एसडी प्रसाद, देव प्रकाश, प्रमोद गुप्ता, उदित यादव, अश्वनी कुमार सिंह, मिथिलेश झा उपस्थित थे.

 

---Advertisement---

Leave a Comment